Home मुस्लिम जगत जिन्नातों ने एक रात में बनाई थी ये मस्जिद, आज भी पूरी...

जिन्नातों ने एक रात में बनाई थी ये मस्जिद, आज भी पूरी दुनिया के लोग आते हैं कलाकृति देखने…

1042
0
SHARE

क्या जिन्नात या जिन नाम की कोई चीज़ होती है? क्या जिन्न के अंदर इतनी शक्ति होती है? अगर जिन होते हैं तो वह हमें क्यों नहीं दीखते है? यह कुछ सवालात है जिन्हे अक्सर लोग एक दूसरे पोछते है. जी हाँ यह कोई अफवाह नहीं बल्कि सच है, जिसे इस्लाम मजहब के अलावा कोई और स्वीकार नहीं करता.

मॉडर्न लोग इसे बता देते है ढकोसला…
क्योंकि मॉडर्न लोग इसे एक ढकोसला बता देते है. ताकि उनके कारोबार में कमी न आ जाये, यह जो आलीशान मस्जिद आप देख रहें हैं यह किसी दैवीय शक्ति के बिना बनाना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है.

क्योंकि मस्जिद में प्रयुक्त किये गए एसे एसे पत्थर जिका वजन 2 कुंटल से लेकर 5 कुंटल के पत्थर उठाकर तीस फीट ऊंचाई दीवार बनाना नामुमकिन है.

इस मस्जिद को जिन्नों ने बनाया था एक रात में…
यह आलीशान मस्जिद मलेशिया के मलंग शहर ईस्ट जावा में स्थित है, ऐसा कहा जाता है कि इस मस्जिद को जिनो ने सिर्फ एक रात में बना दिया था और यह वाकिया 1991 में पेश आया था.

1991 को बीते अभी ज्यादा दिन नहीं हुए हैं, जिन लोगो के सामने यह मस्जिद बनी थी वह आज भी मौजूद हैं, पूरा इलाका जानता है कि यह मस्जिद अलियंज ने बनाई थी, इसके बनाने के पीछे उनका क्या मकसद हो सकत है यह जांच का विस्श्य है.

मस्जिद की खूबसूरती देखकर रह जायेंगे हैरान…
मस्जिद की खूबसूरती आप देख सकते हैं. जबकि वहां के मक़ामी लोग कहते हैं कि इसे बनाने में किसी आर्किटेक्ट की मदद नही ली गई थी. वैसे यह एक हमेशा से चर्चा का विषय है कि इसे जिन की फ़ौज ने बनाया है लेकिन इस बात से कोई इंकार नही कर सकता कि यह सिर्फ एक रात में ही बन कर तैयार हो गई थी.

मस्जिद में की गयी नक्काशियां भी बता रहीं है कि यह कोई साधारण बिल्डिंग नहीं है, बल्कि इसका इंटीरियर और औतार किसी अच्छे आर्किटेक्चर का भी नहीं बल्कि दूसरी दुनिया के लोगो का लगता है, मस्जिद इतनी खूबसूरत है कि जो शख्स इसमें फज्र की नमाज़ पढने जाता है वो ईशा की नमाज़ पढ़कर निकलता है.

मस्जिद में मिलता है बेहद सुकून…
इस मस्जिद का पुरसुकून माहौल आपको इस मस्जिद में ठहरने के लिए मना लेगा और आप शांति को देखकर यही कहोगे काश मैं सारी जिंदगी इसी मस्जिद में झाड़ू लगता रहता. लोगो ने बताया किन्माज़ पढने जाने वाले लोगो को इस मस्जिद में इतना आराम मिलता है कि नींद के झोंके आने लगते हैं.

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here