Home अजीबो ग़रीब पैग़म्बर मौहम्मद (स०) से है इनका ख़ास रिश्ता, दुनिया में सबसे सगे...

पैग़म्बर मौहम्मद (स०) से है इनका ख़ास रिश्ता, दुनिया में सबसे सगे रिश्तेदार हैं ये लोग, जानिये इनके बारे में…

206
0
SHARE

इस्लाम का पक्ष लेते हुए एक आम मुसलमान अपनी राय देने के लिए पूरी तरह आज़ाद है. जाहिर है जब दुनिया का एक आम मुसलमान, समाज के सामने इस्लाम की वकालत कर रहा होगा, तो वह इस्लाम के उन गुणों को बताएगा, जो उसकी नजर में अच्छे हैं. जबकि उन गुणों पर पर्दा डालने का प्रयत्न करेगा जो धर्म का संकीर्ण बिंदु दर्शाते हों.

इसके विपरित जो इस्लाम के खिलाफ हैं और लगातार इसकी आलोचना कर रहे हैं, उनका यह मानना है कि यह एक ऐसा धर्म है जो हद से ज्यादा संकुचित है और इसमें अपग्रेड की गुंजाइश ना के बराबर है. आलोचकों का मत है कि धर्म, कुरान की आयतों और रसूल की प्राचीन हदीसों के दम पर चल रहा है.

इस्लाम पर समर्थकों से लेकर आलोचकों के अपने तर्क और कुतर्क हो सकते हैं. मगर जब इस्लाम को अपने आपको पैगम्बर मुहम्मद का वंशज मानने वाले जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला (द्वितीय) की नजर से देखें तो कई तरह से इस्लाम के मायने बदल जाते हैं और इनको देखकर महसूस होता है कि आम मुसलमानों के इस्लाम और जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला के इस्लाम में कहीं न कहीं जमीन आसमान का अंतर है.

शाह अब्दुल्लाह,जॉर्डन, इस्लाम, कट्टरपंथ…
प्रोग्रेसिव मुस्लिम होने की वजह से शाह अब्दुल्लाह सम्पूर्ण विश्व को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं. हो सकता है यह बात आपको थोड़ा विचलित कर दे. मगर यह एक ऐसा सच है जिसे बिल्कुल भी नाकारा नहीं जा सकता. जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला (द्वितीय) अपने को पैगम्बर मुहम्मद का वंशज मानते हैं और बेहद आधुनिक हैं.

इस्लाम महिलाओं को परदे में रखने की हिमायत करता है…
शाह अब्दुल्ला इतने आधुनिक हैं कि अगर इन्हें आधुनिकता का पर्याय कहा जाए तो भी गलत न होगा. एक ऐसे वक़्त जब पूरी दुनिया में इस्लाम के अंतर्गत हिजाब को लेकर बहस हो रही है. और कहा जा रहा है कि इस्लाम अपनी महिलाओं को परदे में रखने की हिमायत करता है.

इस्लाम समानता की बात करता है…
उस वक़्त में पैगम्बर मुहम्मद के वंशज शाह अब्दुल्लाह के परिवार की औरतों का हिजाब या बुर्के का इस्तेमाल न करना और जींस, शर्ट, टीशर्ट, कैप्री का इस्तेमाल करना और कहना कि इस्लाम समानता की बात करता है अपने आप में ये बताने के लिए काफी है कि शाह अब्दुल्लाह और उनका परिवार एक ऐसे इस्लाम को मान रहे हैं जो उनकी जमातों से अलग है.

दरअसल बात यह है कि इन दिनों सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर पर शाह अब्दुल्लाह के परिवार का एक फोटो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है. जिसपर लोग अपनी प्रतिक्रिया देते नजर आ रहे हैं. @इमाम ऑफ पीस नाम के यूजर नेम ने इनकी फोटो को ट्वीट किया है और सवाल किया है कि-

‘यह जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला (दि्वतीय) हैं. वह पैगंबर मोहम्मद के वंशज हैं और यह उनका परिवार है. सवाल यह है कि हिजाब और बुर्का नहीं पहनने से इस जमीं पर क्या हो सकता है?.

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here