कैंसर से पीड़ित हिन्दू पड़ोसी के इलाज के लिये हर नमाज के बाद चंदा कर रहे हैं मुसलमान…

    25
    0
    SHARE

    कोलकाता: एक तरफ जहां पूरे देशमें सांप्रदायिकता बढ़ाने को लेकर चिंता जताई जा रही है और इस क्रम में बंगाल को सुलगाने की कई बार कोशिशें की गई हैं वहीं उसी पश्चिम बंगाल में एक मामला सामने आया है जिसने इंसानियत को तमाम ताकतों से ऊपर लाकर खड़ा कर दिया है. बंगाल के खड़कपुर के मुसलमानों ने कैंसर रोगी गैर मुस्लिम पड़ोसी के इलाज के लिए न सिर्फ मुहर्रम के लिए इकट्ठा किये हुए सभी रुपये पड़ोसी को दे दिए.

    कैंसर से पीड़ित हिन्दू पड़ोसी को दिया चंदे का पैसा…
    बल्कि उस रोगी के इलाज के लिये और ज्यादा रुपया जमा करने के लिये स्थानीय मस्जिद जुमे की नमाज में नमाजियों से चंदा करके कैंसर से पीड़ित उस शख्स की मदद करके एक नई मिसाल कायम की है. 35 वर्षीय अबीर भुइयां को कैंसर है और इलाज के लिए बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत है. समिति ने मुहर्रम समारोह रद्द करके सारा पैसा उस पीड़ित को दे दिया.

    मुसलमानों ने मुहर्रम के जूलूस को किया रद्द…
    भोइया कि इस वक्त कलकत्ता के सरोज गुप्ता कैंसर सेंटर में कीमियोथेरेपी हो रही है .बोन मेरो ट्रांस्पेलेंट के साथ इलाज पर कुल 12 लाख रुपये खर्च आना है. समाज सिंहा क्लब के सचिव अमजद खान ने कहा कि मुहर्रम के जूलूस हर साल आयोजित किया जाता है. लेकिन इस साल हमने जूलूस को रद्द करके किसी की जिंदगी को बचाने की कोशिश की है.

    हर जुमे को मस्जिद से होता है ऐलान…
    उन्होंने कहा कि हम हर जुमे की नमाज के बाद के अबीर के इलाज के लिए रुपये इकट्ठा करने जा रहे हैं. हमें उम्मीद है कि जल्द ही इलाज के लिये पैसा इकट्ठा कर लिया जाएगा. हमने इमाम साहब को जुमे की नमाज के दौरान ऐलान करने को कहा है. जिसका असर हो रहा है और लोग बढ़-चढ़कर इस नेक काम में हिस्सा ले रहे है.

    पंडितों ने कम नहीं की पूजा की फीस…
    भुइयां के पड़ोसी रंजन अंशु ने बताया कि यहां लोगों के स्वस्थय होने के लिये पूजा का भी आयोजन किया जाता है. मगर कोई भी पूजा के खर्च को कम करके भुइयां की मदद करने के लिए राजी नहीं हुआ. मगर मुसलमानों ने मुहर्रम को रद्द कर दिया. मेरा पड़ोसी कैंसर रोगी है वह मौत से लड़ने से लड़ रहा है मुझे उम्मीद है कि हमारी कोशिशों से उसकी जिंदगी बच जायेगी.

    हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here