Home इतिहास अशोक नहीं था महान; इतिहास के सबसे बड़े झूठ का हुआ पर्दाफाश;...

अशोक नहीं था महान; इतिहास के सबसे बड़े झूठ का हुआ पर्दाफाश; जानिए सच्चाई

343
0
SHARE

अशोक को पूरी दुनिया में महान कहा जाता है. साथ ही उसे दुनिया के महान राजाओं में शुमार किया जाता है. अशोक ने जगह-जगह पर स्तम्भ गड़वा गड़वाए थे. जिन पर अशोक ने लिखवाया था कि कैसे प्रजा को खुश रखना चाहिए. यह भी कहा जाता है कि अशोक कलिंग में खून देखकर बदल गया था और वह शांति की बात करने लगा था. लेकिन अब इतिहास के सबसे बड़े झूठ का पर्दाफाश हुआ है. कहा जा रहा है कि अशोक एक जालिम राजा था जिसने 500 अधिकारयों के सिर अपने हाथ से काटे थे.

अशोक ने 500 अधिकारियों को अपने हाथ से काटा था….
जिन स्तंभों और लिखी हुई चीजों से अशोक की महानता रची गई, उन्हीं चीजों से अशोक की नई व्याख्या हुई है कि उसने 500 अधिकारियों को अपने हाथ से काटा था. बुद्धिस्ट किताबों में लिखा है कि अशोक ने अपने 99 भाइयों को मार दिया था. उसने कई अधिकारयों को भी मारा था.बता दें कि 270 ईसा पूर्व में अशोक राजा बना था उस वक्त उसको चंडाशोक कहा जाता था.

अशोक ने पेंटिंग के लिए एक जैन परिवार को जिन्दा जलाया था….
बुद्धिस्ट टेक्स्ट अशोकवदना में लिखा है कि अशोक ने बंगाल में आजीविका सेक्ट के 18 हज़ार लोगों को एक बार में मरवा दिया था. इस टेक्स्ट में एक और जिक्र है कि अशोक ने एक तस्वीर बनाई थी. जिसमें उसने बुद्ध को एक जैन गुरु के सामने झुकते दिखाया था. अशोक ने उस जैन सहित पूरे परिवार को एक घर में बंद करके आग लगवा दी थी. और उसके बाद एलान करवाया था कि जो आदमी किसी जैन का सिर काटकर लाएगा उसे सोने का एक सिक्का दिया जाएगा.

फ़ेसबुक पर हमारा पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here