Home मुस्लिम जगत महिलाओं को अकेले हज पर भेज कर, सरकार महिलाओं से करवाएगी गुनाह…

महिलाओं को अकेले हज पर भेज कर, सरकार महिलाओं से करवाएगी गुनाह…

115
0
SHARE

दरगाह आला हजरत के प्रवक्ता मुफ्ती मोहम्मद सलीम नूरी ने कहा कि हज इस्लाम के पांच स्तंभों में से एक है और यह शरिया के कानूनों के मुताबिक होना चाहिए.उन्होंने कहा कि शरियत के मुताबिक महिलाएं अकेले हज पर नहीं जा सकती.उन्होंने आगे कहा यह प्रस्ताव गैर इस्लामिक है.

प्रशासन महिलाओं को शरिया के खिलाफ कर रहा है…
टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक मौलानाओं ने कहा है कि प्रशासन महिलाओं को शरिया के खिलाफ कर रहा है. उन्होंने कहा कि हज के दौरान महिला के साथ उसके पति या किसी शख्स का होना ज़रूरी है.उन्होंने कहा किप्रशासन महिलाओं को अकेले हज पर भेज कर उन्हें गुनाह की तरफ धकेलना चाहता है.

महिलाओं को अकेले हज पर जाने की न दी जाए इजाज़त…
उन्होंने कहा कि चूंकि समुदाय में सुन्नी मुसलमानों की संख्या ज्यादा है, इसलिए सरकार को नेताओं से बातचीत करने के बाद ही कोई नियम बनाना चाहिए.वहीँ दूसरी तरफ जमात रजा-ए-मुस्तफा के नेशनल जनरल सेक्रेटरी मौलाना शाहबुद्दीन रजवी ने कहा कि वह मुख्तार अब्बास नकली को पत्र लिखकर महिलाओं को अकेले हज पर जाने की इजाजत न देने को कहेंगे.

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here