Home राजनीति बीजेपी ने वंदे मातरम को किया था जरूरी, मेयर बनते ही BSP...

बीजेपी ने वंदे मातरम को किया था जरूरी, मेयर बनते ही BSP नेता ने तत्काल प्रभाव से हटाया

42
0
SHARE

लखनऊ: वंदे मातरम गान की अनिवार्यता एक बार फिर चर्चा में है. निकाय चुनाव में बीजेपी जिस सीट पर हार चुकी है वहां अब नए फरमान जारी करने की होड़ मची हुई है. ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ का है. यहाँ पर बीएसपी की मेयर सुनीता वर्मा ने पदभार संभाला है. सुनीता ने बीजेपी के हरिकांत अहलूवालिया को हराया है. सुनीता ने पद भार संभालते ही बड़ा फैसला लिया है.

मेरठ की नई मेयर ने बीजेपी के फैसले को बदला…
उन्होंने बीजेपी के पूर्व मेयर के उस फैसले को पलट दिया है जिसमें नगर निगम बोर्ड की बैठकों में राष्ट्रगीत वंदे मातरम का गान करना अनिवार्य कर दिया था.
मार्च 2017 में मेरठ के तत्कालीन मेयर हरिकांत अहलूवालिया के समक्ष राष्ट्रगीत के गान को अनिवार्य करने का प्रस्ताव रखा गया था. जिसे ध्वनि मत से पारित कर दिया गया. हालांकि मेरठ की नई मेयर सुनीता वर्मा ने आते ही इस फैसले को वापस ले लिया है.

राष्ट्रगान की परंपरा को निभाया जाता रहेगा….
निकाय चुनाव में निर्वाचित हुई बीएसपी की मेयर सुनीता वर्मा ने साफ कर दिया कि नगर निगम बोर्ड की बैठक में राष्ट्रगीत वंदे मातरम् का गान नहीं कराया जाएगा. हालांकि बैठक में राष्ट्रगान की परंपरा को पहले की तरह ही निभाया जाता रहेगा.

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here