Home मज़हबी जब सिर्फ एक प्याले दूध से 40 लोगों ने पेट भरा और...

जब सिर्फ एक प्याले दूध से 40 लोगों ने पेट भरा और उसके बाद आखिरी ने बचा हुआ दूध नबी ने भरपेट पिया…

1062
0
SHARE

मदीना में कुछ गरीब मुसलमान थे,जिनके पास घर बार न था, वह हमेशा मस्जिदे नबवी के पास बैठे रहते थे, उन्हें असहाबे सुफ्फा कहा जाता था. इन लोगों के पास खाने पीने का भी कुछ सामान न होता था, इन लोगों को अल्लाह के रसूल जो कुछ दे देते वह खा लेते और अल्लाह का शुक्र अदा करते.

इन्हीं में से एक मशहूर सहाबी हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाह ताला अनहु भी थे, वह बयान करते हैं कि एक बार भूक की शिद्दत से मैं परेशान था, इतनी भूक थी, कि मैं बार बार बेहोश हो जाता था, जब भूक बहुत बढ़ गई तो मैं रास्ते में बैठ गया कि कोई आए और मुझे लेकर अपने घर जाये.

सब से पहले हज़रत अबू बकर रज़ी अल्लाह ताला अनहु आए मैं ने उनसे एक आयत पूछिए तो वह आयत बता कर आगे बढ़ गए, और मुझे साथ न ले गए, इनके बाद हज़रत उमर रज़ी अल्लाह ताला अनहु आए लेकिन वह भी साथ न ले गए.

कुछ देर के बाद अल्लाह के रसूल उस रास्ते से गुजरे, आप ने जब मुझे देखा तो अपने साथ ले लिए, आप अपने घर में दाखिल हुए, और मैं भी आप की इजाजत से आप के घर में दाखिल हो गया. जब आप घर में दाखिल हुये तो आप ने वहाँ पर दूध देखा.

जब आप ने दूध देखा तो घर वालों से पूछा यह दूध कहाँ से आया है, अर्ज़ किया गया किसी ने हदिया भेजा है. हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाह ताला अनहु फरमाते हैं, फिर मुझ से अल्लाह के रसूल ने फरमाया जाओ असहाबे सुफ्फा को बुला लाओ.

जब आप को बुलाने के लिए कहा गया तो उन्होने सोचा कि एक प्याला दूध है, और इतने लोगों को बुलाया जा रहा है, इस में मुझे क्या मिलेगा, लेकिन इसके बावजूद वह बुलाने के लिए गए.

जब मैं उनको बुला कर लाया, तो आप ने मुझ से फरमाया कि एक एक को पीने के लिए दे दो, मैं सब को पीने के लिए देता जाता और वह सब पीते रहते, जब सब लोग पी चुके तो अल्लाह के रसूल ने मुझ से फरमाया कि अब तुम भी पी लो.

जब हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाह ताला अनहु का पेट भी भर गया, तो आप ने फरमाया और पियो, लेकिन हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाह ताला अनहु ने मेरा पेट भर चुका है, और अब गुंजाइश नहीं है. इसके बाद मुसकुराते हुये अल्लाह के रसूल ने भी दूध पी लिया. (तिरमिजी हदीस नंबर 2477)

 हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here