Home इतिहास हिन्दुओं के पवित्र स्थल अमरनाथ गुफा की खोज एक मुसलमान ने की...

हिन्दुओं के पवित्र स्थल अमरनाथ गुफा की खोज एक मुसलमान ने की थी, कहानी पढ़कर आपकी आँखें भर आएँगी

805
0
SHARE

जम्मू कश्मीर में हर साल हजारों की संख्या में हिन्दू अमरनाथ यात्रा पर जाते हैं, इसके लिए प्रदेश सरकार की तरफ से काफी तैयारी की जाती है, लेकिन क्या आप को मालूम है कि इस गुफा की खोज किस ने की थी, आज हम आप को यहाँ पर बताने जा रहे हैं कि इस गुफा को किस ने खोजा था.

अमरनाथ गुफा की खोज एक मुस्लिम ने की थी…
इस गुफा को आज से 500 साल पहले एक मुस्लिम ने खोजा था, उस मुस्लिम का नाम बूटा मलिक है, बूटा मालिक का नाम इस मामले में विधानसभा में भी लिया जा चुका है.

इस मुस्लिम का नाम बूटा मालिक था…
आज भी उनके परिवार के लोग वहाँ पर रहते हैं, उनके परिवार के गुलाम हसन मालिक का इस बारे में कहना है कि बूटा मालिक बकरियाँ चराया करते थे,एक दिन जब वह बकरी चराने के लिए गए तो उन्हें साधु मिले,फिर उन दोनों की दोस्ती हो गई.

एक दिन जब बूटा मालिक बकरी चरा रहे थे, तो इसी दौरान उन्हें तेज़ ठंडी लगने लगी, जब साधू ने देखा कि बूटा मालिक को ठंडी लग रही है तो साधू ने बूटा मालिक को एक कांगड़ी दिया, लेकिन बूटा मालिक को उस वक़्त हैरत हुई जब वह कांगड़ी सुबह सोने में बदल गई.

मैं अभी अभी भगवान शिव से मिला हूँ…
वहीं जब वह दिन गुफा के पास से अपनी बकरी लेकर जा रहे थे तो उन्हें बहुत सारे साधू मिले, यह तमाम साधू भगवान शिव की तलाश में घूम रहे थे, जब बूटा मालिक ने उन से पूछा- कहा जा रहे हो तो इन लोगों ने बताया कि वह भगवान शिव की तलाश में हैं, बूटा मालिक ने उनसे कहा कि वह अभी अभी भगवान शिव से मिल कर आ रहे हैं.

बूटा मालिक तमाम साधुओं को गुफा ले गए…
उसके बाद बूटा मालिक तमाम साधुओं को गुफा के अंदर ले गए, तो वहाँ पर देखा कि बर्फ का विशाल शिवलिंग और साथ में पार्वती और गणेश बैठे हुए थे. बूटा मालिक के परिवार के मुताबिक उसी के बाद से अमरनाथ यात्रा शुरू हुई.

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here