Home मज़हबी एक गुलाम की इबादत जो इस्लाम के इतिहास के पन्नों में सुनहरे...

एक गुलाम की इबादत जो इस्लाम के इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में लिखी गई, एक बार जरूर पढ़ें

1741
0
SHARE

एक शख़्स ने ग़ुलाम ख़रीदा तो ग़ुलाम ने मालिक से कहा ऐ मेरे आक़ा मैं आपका ग़ुलाम हूँ लेकिन मैं आपसे तीन शरतें चाहता हूँ, मालिक ने कहा कैसी शर्त. तब ग़ुलाम कहने लगा कि मेरी तीन शर्तें यह है के जब नमाज़ का वक़्त हो जाए तो आप मुझे नमाज़ पढने से न रोकें. दुसरी ये कि आप दिन में जो चाहें ख़िदमत करवा लें लेकिन रात को मुझे आज़ाद कर दें.

और तीसरी ये कि मुझे एक ऐसा कमरा दें कि मैं वहां अकेला रह सकूं मालिक ने कहा तीनों शर्तें मंज़ुर हैं ये लो चाबी और इनमें से जो कमरा भी पसंद आये रख लो. गुलाम ने एक छोटा सा पुराना सा कमरा अपने लिये चुन लिया, मालिक ने पूछा यहां और भी बडे और अच्छे अच्छे कमरें हैं लेकिन तुमने एक पुराना और छोटा कमरा ही क्यों चुना.

ग़ुलाम कहने लगा आक़ा आपको मालुम नही ख़राब से ख़राब कमरा अल्लाह की इबादत करने से अच्छा हो जाता है अब ग़ुलाम दिन में आक़ा की ख़िदमत करने लगा और रात में उसी कमरे में रहने लगा एक रात उसके आक़ा ने शराब की महफिल सजाई जब आधी रात हुई तो सारे दोस्त एहबाब चले गए तो वो घर में ऐसे ही घुमता हुआ ग़ुलाम के कमरे के पास पहुंचा.

तो देखा उसके कमरे में लाईट जल रही है और गुलाम सजदे में दुआ कर रहा है ऐ मेरे अल्लाह तूने दिन में मेरे मालिक की ख़िदमत वाजिब कर दी है अगर ये काम न होता तो मैं दिन रात तेरी इबादत करता ऐ अल्लाह मेरी कोताहियों को माफ फरमा-

मालिक सारी रात दरवाज़े के पिछे खडा हो कर देखता रहा जब सुबह हुई तो ग़ुलाम सजदे से उठा और मालिक की ख़िदमत में हाज़िर हो गया. मालिक ने अपनी बीवी को सारा माजर कह सुनाया अगली रात फिर मालिक और उसकी बीवी दोनो ही दरवाज़े के पीछे खडे देखतें रहें.

ग़ुलाम अपनी इबादत में मशगूल रहा. ग़ुलाम की ऐसी ईबादत देख कर दोनों मिया बीवी रात भर रोते रहें यहां तक कि सुबह हो गई. सुबह हुई तो मालिक ने ग़ुलाम से कहा हमने तुझे अल्लाह की रज़ा के लिये आज़ाद कर दिया.

और रात का सारा माजरा कह सुनाया. ग़ुलाम ने जब सारा माजरा सुना तो दोनों हांथ आसमान की तरफ उठाकर कहने लगा ऐ अल्लाह मेरा राज़ ज़ाहिर हो गया. इस राज़ के ज़ाहिर होने के बाद में और ज़िंदगी नही चाहता. ऐ अल्लाह मेरी रुह क़ब्ज़ कर ले इतने में वो ज़मीन पर गिरा और उसकी रुह परवाज़ कर गई.

हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here