आसिफ़ा के पिता ने अल्लाह से माँगी ये दुआ, आप भी एक बार आमीन जरूर बोलें

    1686
    0
    SHARE

    कठुआ गैंग रेप में पीड़िता 8 वर्ष की बच्ची आसिफ़ा के पिता का बयान सुनिए. उन्होंने कहा है कि हमने आसिफ़ा को हर जगह खोजा मगर मंदिर की तलाशी नही ली. हमे मालूम था कि वह बहुत पवित्र जगह होती है.

    धार्मिक स्थान किसी भी धर्म के हों उसे लेकर एक आम और स्वस्थ मानसिकता वाले भारतीयों की यही सोच होती है. मैं उनकी जगह होता तो यही सोचता.

    आज के धार्मिक स्थल राक्षसों कब्ज़े में है…
    आप भी यही सोचते, कोई भी यही सोचता. अगर आसिफ़ा के पिता ने मंदिर की तलाशी ली होती तो शायद आज उसकी पीड़ित बच्ची जिन्दा होती, पर उन्होंने सोचा कि मंदिर जैसी पवित्र जगह पर ऐसा घृणित और धर्म विरोधी काम कौन करेगा?

    आसिफ़ा के पिता ने ठीक यही सोचा, उस चरवाहे को शायद आज की दुनिया का पता नहीं था कि आज के धार्मिक स्थल राक्षसों और शैतानों के कब्ज़े में है.

    आज धार्मिक स्थलों का प्रयोग…
    आसिफ़ा के पिता को शायद पता नहीं कि आज धार्मिक स्थलों और धर्म का प्रयोग अच्छे, नैतिक, परोपकारी कामों के लिए नहीं बल्कि घृणा फैलाने, द्वेष पैदा करने, और व्यक्तिगत तथा राजनैतिक लाभ के लिए किया जाता है.

    नाबालिग आसिफा के पिता ने कहा कि रब किसी को नहीं छोड़ता. वो हक़-नाहक़, जायज और नाजायज सबको देख रहे हैं. दरअसल असिफ़ा के पिता को पता ही नहीं कि उसकी मासूम बेटी न्यू इंडिया के किस एक समाज के चंगुल में फंस गयी जहाँ मुस्लिम विरोध के सामने भगवान, उनका मंदिर और उस मंदिर की पवित्रता का कोई अर्थ नहीं.

    हमारा फेसबुक पेज लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here